Wednesday, May 12, 2021
Home मनोरंजन

मनोरंजन

मुंबई : इंकलाब नारी शक्ति मंच के नेतृव में ऑनलाइन काव्य गोष्ठी कार्यक्रम का हुआ आयोजन

रिपोर्ट- लवकुश आर्या मुंबई। इंक़लाब नारी शक्ति साहित्यिक एवं सामाजिक मंच (मुम्बई) के तत्वावधान में ऑनलाइन काव्यगोष्ठी संपन्न. इंक़लाब नारी शक्ति मंच के नेतृव में...

लखनऊ : शहर में लगा फैशन शो कई प्रतिभागियों ने आजमाई किस्मत

लखनऊ। 16 सितंबर 2020 उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के गोमती रिवर फ्रंट में आयोजनकर्ता खुशी त्रिपाठी, प्रशांत शर्मा व प्राची सिंह ने सफल...

IPL का नया टाइटल स्पॉन्सर कौन है कितने रुपये की हुई डील जानने के लिए पढ़े पूरी खबर

रिपोर्ट- हिमांशू मौर्या नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का नया टाइटल स्पॉन्सर मिल गया है. बीसीसीआई (BCCI) ने फैंटेसी गेमिंग फर्म ड्रीम-11 को मंगलवार...

बहुत लिखते हो तुम नारी शक्ति पर, कभी पुरुष जाति पर भी लिखा करो…….

मैं पुरुष हूं दीपक साहू बहुत लिखते हो तुम नारी शक्ति पर, कभी पुरुष जाति पर भी लिखा करो, पुरूष भी सहते हैं अत्याचार, कभी उन...

कोठारी अंकिता ने किया पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन, 21देशो ने किया प्रतिभाग

डेस्क रिपोर्ट समाचार। कोठारी अंकिता मनीष कुमार ने एक पेंटिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया. इस प्रतियोगिता में छोटे बच्चों सहित बडे़ कलाकारों ने भाग...

रिश्ते और सोशल मीाडिया

अंशिता दुबे त्रिपाठी कहानी। जिदंगी की राह में बहुत लोग आते है, उसमे सब अपनी अपनी जगह बना लेते हैं. कोई दिल मे रह जाता...

जानिए आखिर महिलाये क्यो नही काटती पूर्ण कद्दू

रिपोर्ट- कृष्णा आर्या प्राचीन दंत कथाओ में बहुत सी दंत कथाएं ऐसी भी है जिनमे साधारण तौर पर विश्वास करना बड़ा ही मुश्किल होता है....

असर हवाओं का नही, असर शहर का नहीं

असर हवाओं का नहीं, असर शहर का नहीं, असर बारिश का भी नहीं, असर मेरी बातों का था, असर मेरे अंदाज का था, असर मेरी मुस्कुराहट का था, उठा लिए...

इश्क में भिगोना बाकी रह गया

अंशिता दुबे इश्क़ में भिगोना बाकी रह गया, तेरी रातों को जगाना बाकी रह गया. गजलें तो मुक्कमल हो गयी, पर तेरे लिये गुनगुना बाकी रह गया. फिजाओं को...

जमाने का ये पैमाना हमें अच्छा नहीं लगता

जमाने का ये पैमाना रंजना मिश्रा जमाने का ये पैमाना हमें अच्छा नहीं लगता कोई हंसता कोई रोता हमें अच्छा नहीं लगता कोई है भूख से व्याकुल कोई महलों में सोता...

इन सायं सांय करती रातों में तन्हाई का आलम है

हस्ताक्षर स्वाक्षर. इन सायं सांय करती रातों में तन्हाई का आलम है, पर हर शब्दों में जिक्र तुम्हारा है , तुम नहीं होते करीब तो, ये कलम ये...

छोटा मनमोहक मेरा लड्डू गोपाल, आत्मा का मंथन करे है कमाल

मन मोहक लड्डू गोपाल छोटा मनमोहक मेरा लड्डू गोपाल, आत्मा का मंथन करे है कमाल. सबको मोहे मुस्कान इतनी प्यारी, ब्रिज वासियों में लल्ला की छवि है न्यारी. माथे...
- Advertisment -

Most Read