प्रयागराज : पुस्तक परिचर्चा का किया गया आयोजन

0
0

एंकर/रिपोर्ट- विभा पाल

प्रयागराज। महिला काव्य मंच प्रयागराज ईकाई के तत्वावधान में अध्यक्ष रचना सक्सेना और महासचिव ऋतन्धरा मिश्रा के संयोजन में 19 जुलाई से पुस्तक परिचर्चा संबधित एक कार्यक्रम का आयोजन प्रारम्भ किया गया. जिसमें सर्वप्रथम हेमवती नन्दन बहुगुणा की हिन्दी की ऐसोसिऐट प्रोफेसर डा० सविता कुमारी श्रीवास्तव की पुस्तक बेदर्द जमाना पर पुस्तक परिचर्चा चली. जिसमें अनेक महिला साहित्यकारों ने उनके काव्य संग्रह पर अपने समीक्षात्मक विचार प्रस्तुत करें. डा० सरोज के अनुसार सविता की रचनाओं में अनुभूति की सघनता है. सुमन दुग्गल के अनुसार सविता की कविताऐं आशा के स्वर है. ललिता नारायणी ने कहा सरल भाषा में ईमानदार आत्माभिव्यक्ति मन को विभोर कर गयी. जया मोहन के अनुसार यह काव्य संग्रह मानवीय संवेदनाओं से परिपूर्ण है. डा० पूर्णिमा मालवीय कहती है कि उन्होंने अपनी कविताओ को पृथक पृथक रंगों में रंगा है मीरा सिन्हा के अनुसार काव्य संग्रह बेदर्द जमाना में जीवन के इन्ही नाना चित्रों, भावों, संघर्षो का आकलन है. ऋतन्धरा मिश्रा के अनुसार सविता का सृजन संवेदनशील ह्रदय की अभिव्यक्ति है और रचना सक्सेना के अनुसार यह एक ऐसा काव्य संग्रह है जो बेदर्द जमाने के दर्द को अपनी कविताओं में समेटे हुऐ है.

लखनऊ : दबंगो के हौसले बुलंद पुलिस नही कोई कार्यवाही

लखनऊ : होटल के कमरे में प्रेमी युगल जोड़े का मिला शव, पुलिस जांच में जुटी

रामलला के भव्य मंदिर निर्माण मे जलाए गए दीपक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here