रिपोर्ट– मो० अजहर आदिल

इटावा। आगरा में 26 अक्टूबर को घर से लापता पेशे से वकील कपिल पवार की लाश अज्ञात के रूप में इटावा के भर्थना थाने के अंतर्गत ग्राम मल्होसी के पास नहर के किनारे 28 को मिली थी. इटावा पुलिस ने शव की शिनाख्त की काफी कोशिश की लेकिन शव के पास से ऐसी कोई चीज नही मिली जिससे शव की शिनाख्त की जा सके आखिर इटावा पुलिस में शव को मोर्चरी में रखवा दिया और अज्ञात शव की फोटो अखबारों में दे दी गई. कल भर्थना थाने में मृतक वकील कपिल के भाई का फोन आता है और शव को देख कपिल के रूप में आशंका व्यक्त की जाती है आज मृतक वकील कपिल के दो बड़े भाई इटावा पोस्टमार्टम हाउस पहुंचते है और शव की शिनाख्त छोटे भाई कपिल के तौर पर करते है. मृतक वकील कपिल के बड़े भाई सुग्रीव जो हापुड़ जिले के रहने वाले है और जो बेहद गरीब पृष्ठ भूमि से आते है कपिल के दोनों ही बड़े भाई मजदूरी करते है उन्होंने बताया कि छोटा भाई कपिल पड़ने लिखने में होशियार था इसी के चलते दिल्ली चला गया था और वहां रहकर आई ए एस की तैयारी कर रहा था वहीं पर कपिल की मुलाकात बड़ौत निवासी ममता से होती है ममता भी बड़ौत में रहकर आईएएस की तैयारी कर रही थी. 10 साल पहले दोनों ही लोगो ने प्रेम विवाह कर लिया था ममता जाट बिरादरी से आती थी जबकि सैनी पिछड़ी जाति से आते थे. ममता के घर वाले शादी से राजी नही थे लेकिन प्रेम विवाह के चलते उनकी न चली शादी के बाद से ही कपिल का भी अपने परिवार वालो से मिलना जुलना बहुत कम था. कपिल और ममता ने शादी के बाद आगरा में रहना शुरू कर दिया था चूंकि ममता का चयन पुलिस विभाग में सब इंस्पेक्टर के पद पर हो गया था और कुछ सालों बाद ममता इंस्पेक्टर भी बन गई थी. वहीं कपिल ने वकील की प्रैक्टिस शुरू कर वकालत करने लगा था घर वालो की माने तो विवाद एक साल पहले शुरू हुआ जब ममता की हार्ट अटैक से मौत हो गई, मौत के बाद ममता के नाम काफी जमीन थी जिसका विवाद शुरू हो गया कपिल और ममता की 8 साल की बेटी है. जिसने बताया कि कुछ दिनों पहले मामा और पापा का झगड़ा हुआ था कपिल के भाई ने अपने भाई की हत्या का आरोप उसके ससुरालीजनों पर लगाया फिलहाल आगरा के थाना छत्ता में कपिल की गुमशुदगी का मामला दर्ज है. इटावा में शव का पोस्टमार्टम करने के बाद शव कपिल के भाइयो को सौंप दिया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here