रिपोर्ट- सौरभ गुप्ता
फतेहपुर। फतेहपुर जनपद के रानीपुर गांव के सामने प्रयागराज नेशनल हाईवे पर बंद पड़ी दो कंपनियों से अवैध चमड़ा कारोबार का मंगलवार को खुलासा हुआ. ग्रामीणों के द्वारा विरोध करने पर  शिकायत पर तहसील प्रशासन के साथ स्थानीय प्रशासन ने गंभीरता से लेते हुए शिकायतकर्ता की शिकायत पर जांच के लिए पहुंची जांच टीम ने फैक्ट्री के अंदर की वीडियो क्लिप बनाकर उच्चाधिकारियों को भेजी. फैक्ट्री के अंदर चमड़े को पहले ब्वॉयलर में डालकर चलाया जाता था बाद में उसे सुखाने के लिए कई बीघे जमीन में फैलाया जाता था. उप जिलाधिकारी आशीष कुमार के निर्देशन में मौजूद राजस्व कर्मी कानूनगो दिनेश मिश्रा, लेखपाल अभिषेक गुप्ता, शुभम सिंह के साथ मौजूद एसआई ब्रह्मदेव गोस्वामी मय हमराही फोर्स की मौजूदगी में दो दशक से बंद चल रही दोनों फैक्ट्रियों को सीज किया गया. इन कंम्पनी मे चमड़ा से अवैध जैविक खाद बनाने का काम किया जा रहा था तभी ग्रामीणों के शिकायत के बाद दो कंम्पनी को सीज कर दिया गया. स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि दोनों कंपनियां लगभग दो दशक से बंद पड़ी है. लेकिन विगत कुछ माह से कंपनी के अंदर से धुआं निकलने पर कंम्पनी के संचालन की जानकारी ग्रामीणों को हुई थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here