कानपुर। एक तरफ सरकार बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ का नारा देकर लोगों को जागरूक कर रही है पर उन्ही के राज्य में बेटियां सुरक्षित व महफूज नही दिख रही है आये दिन बेटियों के साथ बालात्कार, हत्या, गैंगरेप जैसी घटनाएं होती जा रही है लेकिन बेटियों को इंसाफ नही मिल पा रहा है। वहीं दूसरी तरफ पुलिस अपनी पुरानी कार्यपद्धती से बाहर नही आना चाह रही है। ताजा मामला उस समय संज्ञान में आया जब कानपुर जिले के रायपुरवा थाना क्षेत्र की रहने वाली नाबालिग युवती के साथ पड़ोस के ही रहने वाले तीन लड़कों ने नशीला पदार्थ खिलाकर पीड़िता के साथ गैंगरेप किया था।

khabarliveindia.com

परिजनों का आरोप है कि पुलिस अधिकारियों व संबंधित थाने में आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही करने की शिकायत दी गई थी लेकिन पुलिस प्रशासन ने कोई भी कार्यवाही नही की गई और आरोपी खुलेआम पड़ोस में टहल रहे है और लगातार पीड़िता के परिजनों को जान से मारने की धमकी भी दे रहे। इस पूरी घटना से परेशान पीड़िता ने फांसी लगाकर जान दे दी।

घटना की सूचना जैसे ही लोगों को मिली पीड़िता के घर लोग इकठ्ठा होने लगे। एकत्रित भीड़ ने पुलिस के खिलाफ लापरवाही का आरोप लगाकर जमकर नारेबाजी की पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाए। सूचना पाकर मौके पर कई थानों की फोर्स पहुंचकर स्थिति को संभाला। वहीं घटनास्थल पर पहुंची फॉरेंसिक टीम ने भी जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

वहीं प्रशासन के आला अधिकारियों का कहना है कि जांच पड़ताल की जा रही है जो भी दोषी पाया जाएगा उस पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here