कानपुर। कानपुर नगर के उमरावखेड़ा गांव में 26 नवंबर संविधान दिवस पर भीम आर्मी महाराजपुर टीम ने सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया. कार्यक्रम में भीम आर्मी के प्रदेश अध्यक्ष सिंकदर बौद्ध ने भारतीय संविधान निर्माता डॉ. बी. आर आंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यापर्ण करके का कार्यक्रम का शुभारंभ किया.

महाराजपुर विधानसभा भीम आर्मी सेना के अध्यक्ष रवीकान्त गौतम की टीम ने प्रदेश अध्यक्ष सिंकदर बौद्ध का फूल माला पहनाकर स्वागत किया. प्रदेश अध्यक्ष ने कहाकि कि हर वर्ष 26 नवंबर को संविधान दिवस भारत के संविधान के महत्व को समझाने के लिए मनाया जाता है. इस दिन लोगों को बताया जाता है कि कैसे हमारा संविधान देश की तरक्की के लिए महत्वपूर्ण है और साथ ही डॉ. बी. आर. अम्बेडकर को देश के संविधान निर्माण में किन-किन कठिन परिस्थितियों का सामना करना पड़ा था. स्वतंत्र भारत के इतिहास में 26 नवंबर का अपना ही महत्व है क्योंकि इसी दिन वर्ष 1949 में, संविधान सभा द्वारा भारत के संविधान को स्वीकृत किया गया था जो 26 जनवरी 1950 को प्रभाव में आया. इसलिए यह एक नए युग की सुबह को चिह्नित करता है.

संविधान के निर्माताओं के योगदान को स्वीकार करने और प्रमुख मूल्यों के बारे में लोगों को समझाने के लिए, 26 नवंबर को संविधान दिवस के रूप में मनाया जाता है. कार्यक्रम का आयोजक भीम आर्मी सेना के जिला महासचिव पिंटू सिंह गौतम ने किया. कार्यक्रम में प्रशासन ने अहम भूमिका निभाई. कार्यक्रम में भीम आर्मी सेना महाराजपुर की टीम व समस्त ग्रामीण उपस्थित रहे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here