रिपोर्ट- विक्की सिंह
कानपुर। कानपुर के बहुचर्चित संजीत अपहरण हत्याकांड को लेकर सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपना वादा पूरा किया और कोरोना काल के बाद मृतक संजीत के परिजनो से मिलने कानपुर स्थित बर्रा स्थित घर पहुंचे. जहां पहुंचकर अखिलेश यादव सीधे संजीत के माता पिता और बहन से मिले तकरीबन 20 मिनट तक परिजनों से मुलाकात करते हुए उनका ढांढस बंधाया और परिजनों के आंसू पोछते हुए सीआईडी मांग को पूरा कराए जाने का आश्वासन दिया. साथ ही यह भी विश्वास दिलाया कि सरकार की हीलाहवाली के उनकी पार्टी विरोध भी जताएगी. इस दौरान अखिलेश यादव मीडिया से भी रूबरू भी हुए, जिसमे उन्होंने संजीत हत्याकांड के बाद भी अभी तक डेड बॉडी न मिलना पुलिस विभाग की सबसे बड़ी नाकामी है और जिन पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई थी. उनकी बहाली करना योगी सरकार की मिली जुली साजिश का एक उदाहरण था. लेकिन अभी अखिलेश यादव संजीत के परिजनों से मुलाकात कर ही रहे थे कि अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं की अनुशासनहीनता को देख वह नाराज हो गए और बिना मीडिया से बात करते हुए अखिलेश यादव संजीत के घर से रवाना हो गए जिसके बाद वह अपने दूर के रिश्तेदार पंगु यादव की लड़की की शादी समारोह में शामिल हुए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here