Wednesday, June 16, 2021
Homeउत्तर प्रदेशलॉकडाउन : सूने-सूने मंदिर मस्जिद, हलचल में मधुशाला है, शासन का खेल...

लॉकडाउन : सूने-सूने मंदिर मस्जिद, हलचल में मधुशाला है, शासन का खेल निराला

रिपोर्ट- रवीन्द्र त्रिपाठी

फतेहपुर। कोविड-19 महामारी को लेकर जहां लॉकडाउन की स्थिति में मंदिर और मस्जिदों में ताले लटक रहे हैं और उनकी दर पर मत्था टेकने वालों को भी मनाही हो गई है. वहीं कोविड-19 गाइडलाइन बनाने वाला शासन-प्रशासन शराब की दुकानों को खोलने की अनुमति देकर यह कहने को विवश कर रही है कि सुने सुने मंदिर मस्जिद, हलचल में मधुशाला है. जानकारी के अनुसार जब सरकार द्वारा कोविड-19 के लिए एक गाइडलाइन बनाई गई उसमें सभी व्यवसायों को लेकर बंदी का समय निर्धारित किया गया किंतु उसमें आबकारी दुकानों का शायद कहीं भी जिक्र नहीं था. इसी को लेकर आबकारी दुकानों के संगठनों ने सरकार से ठेकों को खोलने की अनुमति मांगी तो शासन की ओर से जिलाधिकारियों के पाले में गेंद फेंक दी गई कि वे अपने विवेक से आबकारी दुकानों के खोलने वह बंद करने का समय निर्धारित कर दें. शासन के इस निर्देश के बाद प्रदेश के सभी जनपदों में आबकारी ठेकेदारों ने जिला प्रशासन को अपने विश्वास में लेकर ठेकों को खोलने का आदेश जारी करा लिया. आदेश मिलते ही आबकारी ठेकों के खुलने से पियक्कड़ भाइयों के मन में रसगुल्ले फूटे और ठेकों की ओर दौड़ पड़े. ठेकों में सैकड़ों की भीड़ को देखकर ऐसा लग रहा था कि हमारे देश से कोविड-19 बीमारी जड़ से खत्म हो गई है. यहां दुकानों में ना तो सैनिटाइजेशन व्यवस्था थी न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जा रहा था और ना ही खरीदारों के मुंह में मास्क दिखाई दे रहे थे. सिर्फ पियक्कड़ भाइयों के चेहरे में एक खुशी की चमक चमक रही थी और वह लाइनों में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे. शासन प्रशासन की नीतियां भी अजब-गजब किए हैं दूध की डेयरियों के खुलने का समय 2 घंटे सुबह और 2 घंटे शाम को है. जबकि सेहत के लिए हानिकारक मादक पदार्थों के ठेकों के खुलने का समय उससे भी कहीं ज्यादा रखा गया है. सत्ता में आने के पहले बीजेपी शराब बंदी की मंशा जता रही थी. जैसा कि बीजेपी के सहयोग से बनी बिहार सरकार ने पाबंदी भी अपने प्रदेश में लगाई थी. किंतु जब भाजपा की केंद्र और प्रदेशों में सरकारें बन गई तो शराब बंदी की जगह इन शराब की दुकानों को कुछ ज्यादा तरजीह मिल गई.

KhabarLiveIndia
i am Khabarliveindia-njriya sach dikhane ka news portal chanel.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments