मुंबई। विश्व हिंदी दिवस के शुभ अवसर पर मुंबई की प्रतिष्ठित साहित्यिक संस्था इंकलाब मंच द्वारा काव्य प्रभा पुस्तक विमोचन एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया गया. इस साहित्यिक आयोजन में इंकलाब प्रकाशन द्वारा प्रकाशित काव्य प्रभा साझा काव्य संग्रह ई-पुस्तक का विमोचन किया गया. काव्य प्रभा साझा काव्य संग्रह में सम्मिलित उमा शर्मा ‘उमंग’, राजीव दूबे, गोपाल कृष्णदेव, नवनीत शुक्ल,गीतांजली वाष्णेय, बुद्धि सागर गौतम,राम बहादुर राय “अकेला,आसिया फ़ारुकी, रचना विनोद, कृष्ण गोपाल श्रीवास्तव, कृष्णा कैमूरी, रामशरण सेठ, गंगाधर नरसिंगराव चेपूरवार ‘सोनू, मनोहर कुमार सिंह,कमल राठौर ‘साहिल, श्रीकांत तैलंग, एस .के .कपूर ‘श्री हंस ,ओम प्रकाश श्रीवास्तव ‘ओम, डॉ. महेश कुमार ‘व्हाईट, डॉ. विनय कुमार सिंह, गिरीश इंद्र, नम्रता श्रीवास्तव, जयंती सेन ‘मीना, हरीराम कहार, रितिका दांगी रीत, डॉ. गरिमा त्यागी, कविराज अमोल मांढरे वाई, हरिओम बरनवाल “खेतास”, अमलेन्दु शुक्ल, सपना सिंह, प्रदीप भट्ट, सुमन प्रभा, माधवी मिश्रा, निरंजन सेन, पिंकी महेता शाह “दिशा, अजय कुमार वर्मा, प्रताप सिंह, अर्चना सिंह, डॉ. विनय कुमार श्रीवास्तव, पिंकी सिंघल, बिना सचदेव पल्लू, लाल बच्चन पासवान, कुसुम लता, पुष्पा पुष्प, मुकेश शर्मा, गणपत लाल उदय, श्याम राज,सुभाषिणी रत्नायक (श्रीलंका), धनंजय वितानगे (श्रीलंका), विकास चारण दीवान जी,प्रभात कुमार प्रवीण, पृथ्वी सिंह बैनीवाल, शानवी ‘शानू’ इत्यादि रचनाकारों को काव्यप्रभा साहित्यिक सम्मान से सम्मानित किया गया. कार्यक्रम का आगाज़ इंकलाब मंच की सलाहकार आदरणीया शानवी ‘शानू’ की मधुर सरस्वती वंदना से हुआ. सरस्वती वंदना के पश्चात इंकलाब मंच के मीडिया प्रभारी, वरिष्ठ पत्रकार एवं प्रसिद्ध हिंदी साहित्यकार आदरणीय सुरेंद्र दूबे ‘अनुज जौनपुरी’ जी के कर कमलों द्वारा काव्य प्रभा साझा काव्य संग्रह का विमोचन किया गया. आदरणीय सुरेंद्र दूबे ‘अनुज जौनपुरी’ एवं मंच के संरक्षक श्याम राज (प्रसिद्ध साहित्यकार एवं उपनिरीक्षक, भारत सरकार) ने विश्व हिंदी दिवस की शुभकामनाओं के साथ  काव्य प्रभा सम्मान से सम्मानित सभी रचनाकारों को अपना आशीर्वाद प्रदान कर उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की. इंकलाब मंच राष्ट्रीय अध्यक्षा आराध्या ‘अरु’ एवं सलाहकार सुश्री शानवी ‘शानू’ ने अपने मंच संचालन से सभी का दिल जीत लिया. कार्यक्रम के अंत में इंकलाब मंच के संस्थापक सागर यादव जख्मी ने मंच के सभी पदाधिकारियों के प्रति अपना आभार प्रकट करते हुए सभी सम्मानित रचनाकारों को उनकी उपलब्धि पर उन्हें शुभकामनाएं देते हुए उत्कृष्ट रचनाओं से राष्ट्रभाषा हिन्दी को समृद्ध करने का आह्वान किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here