Monday, October 18, 2021
Homeउत्तर प्रदेशअनुशंसित पार्टी के विधायक द्वारा विद्युत विभाग के जेई को गाली देने...

अनुशंसित पार्टी के विधायक द्वारा विद्युत विभाग के जेई को गाली देने के मामले ने पकड़ा तूल

  • विद्युत कर्मचारियों ने भाजपा विधायक के खिलाफ मोर्चा खोला, उहापोह में फंसा प्रशासन
  • खिसियानी बिल्ली खम्भा नोचे की तर्ज पर भाजपाइयों ने लगाए अखिलेश मुर्दाबाद

रवीन्द्र त्रिपाठी

फतेहपुर। तीन दिन से जनपद में विद्युत कर्मियों के संगठन ने विधायक अयाह शाह विकास गुप्ता के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. आरोप है विधायक ने जेई गाजीपुर हरिकेश को फोन में बातचीत के दौरान बेइज्जत किया. जूतों से मारने और लतियाने की भी धमकी दे डाली. अब विद्युतकर्मी विधायक के खिलाफ एफआईआर न दर्ज होने पर नारेबाजी, धरने की चेतावनी, काम न करने की धमकी दे रहे हैं. दूसरी तरफ जनप्रतिनिधि का मामला होने से अफसर भी बैकफुट पर हैं. वह भी एफआईआर न दर्ज करके कोई बीच का रास्ता तलाश रहे हैं. अफसरों को भी पता है नेता हैं सामने चुनाव है हम क्यों बैर लें. मगर विद्युतकर्मियों के हठ के आगे प्रशासन भी ऊहापोह की स्थिति में है. उधर विधायक के समर्थन में उनके योग्य समर्थको ने भी गाजीपुर में खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे की तर्ज पर जमकर नारेबाजी कर अखिलेश यादव मुर्दाबाद के नारे लगा डाले और विधायक ने जेई से बातचीत के दौरान व उनके समर्थकों ने नारेबाजी के दौरान विद्युत विभाग के कर्मियों पर वसूली के आरोप लगाए. साथ ही यह भी माना कि गांव-गांव विद्युतकर्मी चेकिंग की आड़ में वसूली कर रहे हैं. अब लोगों की समझ मे ये नहीं आ रहा कि विधायक ने जेई को गरिआया और भाजपा सरकार में भृष्टाचार हावी है तो दोषी पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश कैसे हो गए? यह किसी की समझ में नहीं आया कि आखिर भृष्टाचार बिजली विभाग कर रहा अखिलेश यादव बीच में कैसे आगए. खैर यह सत्ता का खेल है, सत्ता का विधायक हैं वह करें तो सही और दूसरा करे तो गलत. कुछ भी सही गलत गलत होता है एफआईआर तो होनी ही चाहिए चाहे भृष्ट कर्मचारी हो या और कोई.

KhabarLiveIndia
i am Khabarliveindia-njriya sach dikhane ka news portal chanel.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -




Most Popular

Recent Comments