वन महोत्सव:बच्चों की तरह पौधों की परवरिश को बनाएं धर्म-ज्योति बाबा

0
15

Spread the love

ब्यूरो रिपोर्ट- रवीन्द्र त्रिपाठी

कानपुर,01जुलाई l बच्चों की तरह पौधों की परवरिश भी हमारा नैतिक धार्मिक व संवैधानिक दायित्व है धरती पर जितनी ज्यादा हरियाली की चादर होगी मानव उतना ही खुशहाल व धन-धान्य से परिपूर्ण होते हुए स्वास्थ्य जीवन यापन करेगा उपरोक्त बात नशा मुक्त समाज आंदोलन अभियान कौशल का के तहत सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में अंतरराष्ट्रीय मादक पदार्थ निरोधक जागरूकता माह के परिप्रेक्ष्य में वन महोत्सव के अंतर्गत आयोजित पेड़ लगाओ पेड़ बचाओ शपथ कार्यक्रम के बाद अंतर्राष्ट्रीय नशा मुक्त अभियान के प्रमुख योग गुरु ज्योति बाबा ने कही बाबा जी ने कहीं कि प्रदेश सरकार द्वारा 1 से 7 जुलाई तक मनाए जा रहे वन महोत्सव के अंतर्गत प्रदेशवासियों को प्रकृत से जोड़ने पौधरोपण को जन अभियान बनाने एवं समाज के समस्त वर्गों को प्रकृति संरक्षण का संदेश व शपथ लेने का पवित्र अवसर है ज्योति बाबा ने बताया कि हमारे जीवन में वनों व वृक्षों के महत्व के दृष्टिगत हमारी संस्कृति साहित्य कला व परंपरा सहित जीवन के समस्त पक्षों में वनों का विशेष स्थान है पौधरोपण कार्यक्रम से जन-जन को हम जोड़ने में कामयाब नहीं होते हैं तो वायु जल भू प्रदूषण के खतरों से हमें कोई नहीं बचा सकेगा इसीलिए वातावरण में प्रदूषण की मात्रा को सीमित करने के लिए धरती को वनाच्छादित करना जरूरी है क्योंकि कोरोना ने वहां पर ज्यादा प्रहार किया है जहां वायु प्रदूषण चरम पर है सक्षम संस्था के डॉक्टर शरद बाजपेई ने कहा की वृक्ष वातावरण से कार्बन डाइऑक्साइड अवशोषित कर पर्यावरण संतुलन बनाए रखने बाढ़ सूखा व भू-क्षरण पर नियंत्रण तथा जल वायु को शुद्ध कर जीवन को उमंग पूर्ण बनाते हैं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अंजू सिंह व मानवाधिकारवादी गीता पाल ने जोर देकर कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किए गए वन महोत्सव को सफल बनाने की जिम्मेदारी हर नागरिक को लेनी होगी तभी प्रदेश में चारों ओर हरियाली दिखाई देगी ई संदेश में झांसी के विनोद वर्मा ने कहा कि बढ़ते प्रदूषण में जनसंख्या वृद्धि आवश्यकताओं में वृद्धि एवं लिप्सा के कारण प्राकृतिक संसाधनों का हद से ज्यादा दोहन हुआ है जिसका परिणाम हमारी भावी पीढ़ी को अस्वस्थ वातावरण में जीवन यापन करना अपरिहार्य सा हो गया है फतेहपुर जिला प्रभारी अंशु सिंह सेगर टीचर गौरव सैनी टीचर विशाल श्रीवास्तव ने कहा वृहद वृक्षारोपण द्वारा एयर क्वालिटी का सुधार कर दुनिया भर में हर साल होने वाली 70 लाख मौतों को टाला जा सकता है यूथ एक्टिविस्ट राखी गुप्ता ने कहा की हैरत की बात यह है की 1990 की तुलना में 2019 में वायु प्रदूषण से होने वाली मृत्यु दर में 115 फ़ीसदी की वृद्धि हुई है बढ़ते वायु प्रदूषण देश की आर्थिकी को बड़े पैमाने पर प्रभावित कर रही है अंत में सभी को ज्यादा से ज्यादा पेड़ लगाने और लगे पेड़ों को बचाने का संकल्प ज्योति बाबा ने कराया l

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here